Bounce Rate क्या है, ओर इसे कैसे कम करे?

What Is Bounce Rate

What Is Bounce Rate | Bounce Rate क्या है, ओर इसे कैसे कम करे?

आज हम जानेंगे Bounce Rate क्या है, ओर इसे कैसे कम करे – यदि आपने भी नया ब्लॉग या वेबसाइट बनाया हैं, तो आपको Bounce Rate के बारे में जान लेना बहुत ही जरूरी होगा तो आइए सीधे सरल शब्दों में जान लेते है कि यह होता क्या है :-

यदि आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट को SERP में रैंक करवाना चाहते हैं, तो यकीनन ही आपको बहुत सारी चीजों का ध्यान रखना बहुत ही जरूरी हो जाता है, क्योंकि हर एक सब्जेक्ट पर आजकल बहुत ही ज्यादा competition हो गया है। तो हम बात कर रहे थे Bounce Rate के बारे में, आपकी साइट पर Bounce Rate यदि ज्यादा है, तो यह आपके लिए बहुत ही परेशानी का कारण बन जाता है। ओर यदि आपने एक नए ब्लॉग या वेबसाइट की शुरुवात की है, तो ज्यादा चिंता की कोई जरूरत नहीं है, यह स्वाभाविक है आपके ज्यादा विजिटर नहीं होंगे तो आपका Bounce Rate ज्यादा होगा।

लेकिन यदि आप एक पुराने ब्लॉगर हैं, और आपका बाउंस रेट ज्यादा है, तो जरूर आपने कुछ ऐसी गलतियां की होंगी जिनसे आपका Website Bounce Rate बहुत ज्यादा बढ़ गया है। जब आपका बाउंस रेट ज्यादा हो जाता है, तो आपकी ब्लॉक की अथॉरिटी, पापुलैरिटी, और रैंक अपने आप ही गिर जाती है, जो कि किसी भी ब्लॉग या वेबसाइट के लिए बहुत ही बुरी बात होती है।


Bounce Rate क्या है? Bounce Rate in SEO

जब कोई विजिटर आपकी वेबसाइट या ब्लॉग पर आता है, और वह आपके First Page से ही वापस चला जाता है दूसरा और कोई पेज Open नहीं करता है, तो इसे Page Bounce कहते हैं। इसी प्रकार बहुत सारे यूज़र आपकी वेबसाइट में आते हैं, और वापस चले जाते हैं, चाहे इसके पीछे उनका कुछ भी कारण हो, तो टोटल यूजर्स में से कितने यूजर्स ने हमारी साइट को विजिट किया और वापस चले गए इसके Percentage को कैलकुलेट करते हैं। जो लोग बिना विजिट किए ही वापस चले गए हैं ऐसे सारे लोगों के Percentage को ही हम उस वेबसाइट का Bounce Rate कहते हैं, यह SEO के लिए बहुत बुरा होता है ।

यदि आपकी Website या Blog का बाउंस रेट लगातार बढ़ते जा रहा है, तो इसके पीछे जरूर कोई कारण है, सबसे पहले आप उन कारणों का पता करें कारण बहुत सारे हो सकते हैं इसके लिए आपको Analysis करना चाहिए, कुछ कारण जैसे कि – आपका ब्लॉग पोस्ट ज्यादा Attractive नहीं है, आपने पैराग्राफ राइटिंग में गलतियां की है, आपके Website या Blog का Appearance ठीक नहीं है। इन सभी कारणों के बारे में भी हम आगे बात करेंगे जिसमें इसके सभी संभव क्या क्या कारण हो सकते है वह बताएंगे, और यह भी जानेंगे की Bounce Rate हम कैसे काम कर सकते है। क्योंकि इसको कम करना बहुत ही जरूरी होगा आपके Blog या Website के लिए, क्योंकि उसका बहुत ही नेगेटिव इंपेक्ट होता है।


बाउंस रेट कितना होना चाहिए?

आइए अब कुछ Technical Terms पर ध्यान देते हैं, और जान लेते हैं कि Good Bounce Rate कितना होना चाहिए। यह बिल्कुल Exact तो नहीं बता सकते है कि Bounce Rate इतना ही होना चाहिए, क्योंकि यह तो अलग-अलग Category की वेबसाइट पर Depend करता है यह Informative Website के लिए अलग होगा Business Website के लिए अलग होगा।

प्राय: Good Bounce Rate 10% से 40% होना चाहिए यह अधिकतम 65% तक भी हो सकता है, ज्यादा वेबसाइट इसी criteria में आती है। परन्तु यह 40% के अन्दर होगा तो बहुत अच्छा होगा वहीं पर हम यदि Business Website की बात करे तो यह 10% से 30% तक होगा तो ज्यादा अच्छा होगा। अब हम बात करे की जिन websites का Bounce Rate 70% से ज्यादा है, तो ऐसी websites अच्छी नहीं होती है।


बाउंस रेट ज्यादा होने के कारण

Bounce Rate के ज्यादा होने के कुछ कारण है।

  • Poor Contents Quality.
  • वेबसाइट का खराब Appearance.
  • Website का लोडिंग टाइम बहुत ज्यादा होना।
  • सिंगल पेज website का होना।
  • Formating में गलती करना।
  • गलत Keywords का उपयोग करना।
  • अच्छे Headings का ना होना।
  • Internal Linking ठीक प्रकार से ना होना।
  • यूजर जो Content सर्च कर रहा वह नहीं मिलने पर।
  • Proper way में Topics को Expaln नहीं करने पर।
  • सही Images का उपयोग नहीं करने पर।
  • Main Topic को Expaln ना करके Starting में है फालतू चीजों के बारे में दिखने पर।

Bounce Rate को कम कैसे करे?

1. Site Appearance :- यदि आप कोई ब्लॉग पोस्ट लिखते हैं, तो सिर्फ कंटेंट का अच्छा होना ही जरूरी नहीं है, वह User के पढ़ने के लिए भी अच्छा होना चाहिए। यूजर को पढ़ने के लिए वेबसाइट का Colour Combination, Text Colour, Font-Size यह सभी चीजें बहुत ही महत्वपूर्ण होती है एक अच्छा इंपैक्ट यूजर पर डालने के लिए।

आइए जान लेते है कुछ बाते :-

  • आप अपनी वेबसाइट के लिए बहुत ही लाइट कलर का सिलेक्शन करें।
  • Font-size को नार्मल रहने देना तो ज्यादा छोटा करें और ना ही ज्यादा बढ़ा करें।
  • वेबसाइट को ज्यादा अट्रैक्टिव दिखाने के लिए ज्यादा कलरिंग ना करें।
  • ज्यादा Image ऐड ना करे।
  • Underline Or Text Blod का वहीं उपयोग करे जहां जरूरी हो।
  • Menu आपका User-Friendly हो।
  • Text Font अच्छा हो पढ़ने के लिए।

2. Content Quality :- आपके कांटेक्ट की क्वालिटी बहुत अच्छी होना चाहिए। क्योंकि कॉन्टेंट की क्वालिटी अच्छी होगी तभी तो यूजर आगे पड़ेगा नहीं तो वह वापस चला जाएगा। कंटेंट क्वालिटी यूनिक होना चाहिए ऐसा नहीं हो कि, आपने Content कहीं से उठाया हो और सिर्फ पेस्ट कर दिया हो या फिर किसी इंग्लिश आर्टिकल को हिंदी में ट्रांसलेट करके ब्लॉग पोस्ट कर दिया हो।

यदि आप ऐसा करेंगे तो आप कभी भी रैंक नहीं कर पाएंगे और आपका Bounce Rate भी बढ़ेगा। ध्यान रहे यूजर Smart है, उसे यदि अपने काम का Blog Post नहीं मिलेगा जैसा की वह चाह रहा है, तो वह आपकी वेबसाइट पर क्यों रुकेगा। तो आप इन बातो का ध्यान रखे, साथ ही आप इन बातों का भी ध्यान रखे की को जानकारी आप User को दे रहे है, वह पूरी तरह से सही हो गलत जानकारी ना दे उससे आपको ओर यूजर दोनों का नुक़सान होगा।

हमेशा अच्छा Content लिखे कम से कम 400 से 500 Word कोशिश करे यूजर को एक ही जगह सारी जानकारी उपलब्ध हो जाए। यदि आप ऐसा करेंगे तो User का आपकी वेबसाइट के लिए आकर्षण बढ़ेगा ओर आगे भी वह आपकी वेबसाइट को Visit करेगा।


3. Page Load Time :- जब कोई User आपकी वेबसाइट को Visit करता है, तो पेज का लोड टाइम बहुत महत्वपूर्ण होता है, वह जल्दी लोड होना चाहिए क्योंकि यूज़र इतने समय तक इंतजार नहीं करता। लोडिंग टाइम 1 second से कम है, तो बहुत बढ़िया एक दम Parfect है। 1 से 4 second है तो यह Average Timing होगी। और इससे जायदा है तो फिर आपकी Website लोड टाइम को कम करने के लिए आप कम से काम Images का उपयोग करे या उनका Size कम हो।


4. Internal Linking :- Bounce Rate को कम करने में Internal Linking बहुत फायदेमंद साबित हो सकती है। आप अपने ब्लॉग पोस्ट के बीच में आपके ही दूसरे पोस्ट जो कि उस पोस्ट से Related हो उन्हें डालने से जब Visiter उस पोस्ट को पड़ेगा तो वह उन links पर click करके आपके अन्य पोस्ट को भी पढ सकेगा। इसी प्रकार वह एक पेज से दूसरे पेज पर जाएगा ओर आपकी वेबसाइट पर ज्यादा से ज्यादा टाइम विताएगा ओर यही तो हमे चाहिए।

साथ ही आप यह भी ध्यान रखे की आपकी जो Internal Links है, वह दूसरे Tab में ओपन हो Same पेज पर ना हो। यदि यूजर उसे पड़ने में Intrested हुआ, तब ही वह पड़ेगा नहीं तो वापस उसी पेज पर आ जाएगा । ओर दूसरा कारण यह भी होगा की आपके ब्लॉग पर 2 पेज ओपन रहेंगे तो वेबसाइट पर बने रहने के चांसेज ज्यादा होंगे इससे Bounce Rate में कमी आएगी।


5. Content Formating :- जब आप पोस्ट लिखते है, तो उसमें आप Formating का बहुत ध्यान रखे यह एक पड़ने वाले पर बहुत प्रभाव डालती है। यदि आप अच्छा भी लिखे ओर उसे ठीक ढंग से प्रस्तुत ना करे मतलब की इधर उधर करदे तो वह बिल्कुल भी ठीक नहीं होगा।

आप प्रॉपर तरीके से अपने ब्लॉग पोस्ट को लिखे, सटीक शब्दों का प्रोयग करे चीजों को सीधे ओर सरल रूप में बताए। एक ही चीज को गोल – गोल ना घुमाए इससे यूजर को पता चलता है, कि आप सिर्फ अपने ब्लॉग को लंबा कर रहे है जानकारी नहीं दे रहे है।


6. Heading :- आप Heading ऐसी डाले की पढ़ने वाले को पूरी जानकारी मिल जाए की इस पोस्ट में आपने किस बारे में बताया है, या क्या – क्या जानकारी दी है। आप ऐसा बिल्कुल भी ना करे कि आपने Heading में कुछ और लिखा है, ओर आपकी पोस्ट में कुछ ओर ऐसा करने से यूजर पर गलत इंपेक्ट पड़ेगा ओर वह आपकी वेबसाइट को छोड़ कर चला जाएगा इससे Bounce Rate तो बढ़ेगा ही साथ ही वह आपकी website को दोबारा कभी visit नहीं करेगा।


7. Mobile Friendly Blog :- आज के समय में ज्यादा लोग तो मोबाइल का उपयोग ही करते है। कुछ भी सर्च करना होता है, तो मोबाइल का ही उपयोग करते है। ऐसे समय में आपको इस बात का ध्यान रखना बहुत ही जरूरी है, कि आपकी website Mobile fiendly हो मतलब की आपकी वेबसाइट मोबाइल में खुलने पर कोई भी समस्या ना हो उसका Appearance Mobile पर भी अच्छा होना चाहिए। आप चाहे तो AMP का उपयोग भी कर सकते है।


Share

2 thoughts on “Bounce Rate क्या है, ओर इसे कैसे कम करे?”

  1. Pingback: On page SEO क्या है | वेबसाइट पर ट्रैफिक कैसे बढ़ाएं ? - Engineerhindi

  2. Pingback: wxolwoks

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *