Physical Properties of Metal In Hindi

physical-properties-of-metal

Physical Properties of Metal In Hindi | भौतिक गुणधर्म

आज हम जानेंगे Physical Properties of Metal के बारे मे, कार्यशालाओं में हम अधिकतर Metal से बने हुए कच्चे माल पर कटिंग प्रक्रिया करके उन्हें उपयोगी वस्तुओं में बदलते हैं, जैसे – टीन के डिब्बे, मोटर की शाफ्ट या किसी शाफ्ट का बुश बियरिंग आदि। ऐसे ही सभी प्रकार की वस्तुओं का निर्माण धातुओं से किया जाता है। पारे को छोड़कर अन्य सभी धातुएँ ठोस होती हैं। उन्हें पीटकर चादर के रूप में फैलाया जा सकता है तथा तार के रूप में खींचा जा सकता है।

ये सभी विद्युत की सुचालक होती है। सभी धातुएँ ताप की भी सुचालक होती है , फिर भी सभी धातुओं के गुणों में भिन्नता होती है। उनके गुणों के आधार पर ही विभिन्न कार्यों के लिए भिन्न – भिन्न धातुओं का चयन किया जाता है। धातुएँ दूसरे तत्त्वों के साथ मिलकर यौगिक बनाती है।

प्रकृति ( Nature ) में धातुओं के यौगिक अयस्क ( Ore ) के रूप में उपलब्ध रहते हैं, जिनसे धातुओं का निष्कर्षण ( Extraction ) किया जाता है। तत्पश्चात् उनका परिष्करण (Purification) किया जाता है। इंजीनियरिंग उद्योग में धातुओं के निम्न गुणों का विश्लेषण आवश्यक है।


Physical Properties Of Metal (भौतिक गुणधर्म)

ये किसी धातु के वे गुण हैं जो बिना धातु को नष्ट किए मात्र छुने – देखने आदि से ज्ञात किए जा सकते हैं।

Colour (रंग)

प्रत्येक धातु अपना एक विशिष्ट रंग रखती है। इस रंग विशेष के कारण ही इसे आसानी से पहचाना जा सकता है, जैसे – पीले रंग की धातु पीतल हो सकती है, जबकि लाल रंग की धातु ताँबा (Copper) आदि ।


Structure (बनावट)

प्रत्येक धातु की अपनी संरचना भिन्न होती है। धातु के टूटे कटाक्ष को देखकर ही उसकी बनावट की पहचान की जा सकती है या उसके अन्दर की बनावट किस प्रकार की है, क्योंकि कुछ धातुओं के कण मोटे तथा कुछ धातुओं के कण रवेदार होते हैं जो स्पष्टतः आकृतिक विशेषता को व्यक्त कर सकते हैं।


Weight (भार) Physical Properties of Metal

पृथ्वी का गुरुत्वाकर्षण बल प्रत्येक वस्तु को उसके केन्द्र की ओर खींचता है । अत : जिस बल से पृथ्वी किसी वस्तु को अपने केन्द्र की ओर खींचती है , उसे वस्तु का भार कहते है ।


Specific Gravity (आपेक्षिक गुरुत्व)

किसी दी गई वस्तु के घनत्व से पानी के घनत्व का अनुपात , आपेक्षिक गुरुत्व ( Specific Gravity ) कहलाता है।


इसे भी पढ़े :- Mechanical Properties of Metals in Hindi

Density (घनत्व)

प्रत्येक धातु का एक निश्चित घनत्व होता है। कुछ धातुएँ बहुत भारी ( ज्यादा घनत्व वाली ) होती हैं, जैसे – सीसा ( Lead ) तथा सोना ( Gold ) आदि, जबकि कुछ धातुएँ बहुत हल्की ( कम घनत्व वाली ) होती हैं, जैसे – एल्युमीनियम ( Aluminium ), सिलिकॉन ( Silicon ) आदि।


Conductivity (चालकता)

धातुओं का वह गुण जिसके कारण वे ऊष्मा तथा विद्युत ( Heat And Electricity ) को अपने अन्दर से एक सिरे से दूसरे सिरे तक जाने देती हैं, चालकता ( Conductivity ) कहलाता है। सभी धातुएँ ऊष्मा तथा विद्युत की सुचालक ( Good Conductor ) होती हैं।


Magnetism (चुंबकत्व)

यह वह गुण है, जिसके कारण धातु चुंबक की ओर आकर्षित होती है। लौह धातु की यह विशिष्ट विशेषता होती है।


Fusibility (गलनीयता) Physical Properties of Metal

प्रत्येक धातु एक निश्चित तापमान पर पिघल जाती है। यह तापमान उस धातु का गलनांक ( Melting Point ) कहलाता है। प्रत्येक धातु का गलनांक अलग – अलग होता है। जैसे कि – एल्युमीनियम का गलनांक 680 ° C , कॉपर का गलनांक 1080 ° C तथा रॉट आयरन ( wrought iron ) का गलनांक 1600 ° C होता है।

Physical Properties of Metal


Share