Vernier Height Gauge in Hindi | वर्नियर हाइट गेज

vernier-height-gauge

Vernier Height Gauge in Hindi | वर्नियर हाइट गेज क्या है ?

वर्नियर हाइट गेज (Vernier Height Gauge) का प्रयोग कार्यशाला में जॉब बनाते समय उसकी ऊँचाई मापने के लिए मार्किग करते समय किया जाता है, इसके द्वारा मीट्रिक प्रणाली में 0.02 मिमी एवं ब्रिटिश प्रणाली में 0.001″ तक सूक्ष्म माप में मार्किग का सकते हैं।


Vernier Height Gauge के मुख्य भाग

Base (आधार)

आधार एक महत्त्वपूर्ण भाग है जिसे कि कॉस्ट स्टील या एल्युमीनियम एलॉय से बनाया जाता है । यह आयताकार एवं भारी होता है । एवं इसे निचले सतह से अच्छी प्रकार प्राइण्ड करके मध्य का भाग खाली ( recess ) बनाया जाता है ।

Fine Adjusting Unit (फाइन एडजस्टिंग इकाई)

इस इकाई का प्रयोग Vernier Height Gauge को आगे – पीछे लेने के लिए किया जाता है । इस इकाई के विपरीत दिशा में लगे क्लैम्पिग स्क्रू से इसे स्थिर कर दिया जाता है । ताकि मार्किग को ठीक प्रकार से किया जा सके।

Vermier Scale (वर्नियर स्केल)

यह Vernier Height Gauge का मुख्य भाग होता है। इसको मेन स्केल पर स्लाइड करने के लिए बनाया जाता है । इसकी दोनों साइडों में कमानी स्प्रिंग दिया होता है, जो इसको सदा एक ही अवस्था (Position) में रखता है , इनके बीच में से एक खिड़की (Window) कटी होती है , जिस पर मेन स्केल के निश्चित भागों को एक से अधिक भागों में बाँटा जाता है ।

वर्नियर स्केल के साथ में मुख्य स्केल के समान ही Movable Jaw तथा चल निव Movable Nib लगी होती है। इसको किसी स्थान पर स्थिर करने के लिए इसके ऊपरी भाग में एक क्लैम्पिंग स्क्रू लगा होता है। यह स्केल एक फाइन एडजस्टमेंट इकाई (Fine Adjustment Unit) से जुड़ा होता है।

Scriber (स्क्राइबर)

यह Vernier Height Gauge में प्रयुक्त होने वाला एक अवयव है, जिसे जाब पर मार्किग करने के लिए प्रयोग किया जाता है। यह प्राय : दो प्रकार के होते हैं, स्ट्रेट स्क्राइबर या ऑफसेट स्क्राइबर। जो कि आजकल अधिकतर कार्बाइड टिप वाले स्क्राइबर प्रयोग में लाए जाते हैं।

Beam (बीम)

यह वर्नियर कैलीपर के बीम स्केल होता है तथा आधार से जुड़ा रहता है।


Principle of Vernier Height Gauge (सिद्धान्त)

वर्नियर हाइट गेज का सिद्धान्त वर्नियर कैलीपर्स के समान होता है ।


Least Count (अल्पतम माप)

Vernier Height Gauge द्वारा ली जा सकने वाली छोटी – से – छोटी माप को उसकी अल्पतम माप कहते हैं । मुख्य रूप से मीट्रिक प्रणाली में मेन स्केल के 49 विभागों के बराबर वर्नियर के 50 वर्नियर स्केल विभाग होते हैं।

अत : वर्नियर हाइट गेज के अल्पतम माप के सूत्र अनुसार ,

अल्पतम माप = 1 मैन स्केल विभाग -1 वर्नियर स्केल विभाग

1 वर्नियर स्केल विभाग = 49/ 50 = 0.98 मि मी

1 मेन स्केल विभाग – 1 मिमी

अल्पतम माप = 1 – 098 = 0.02 मिमी


Digital Vernier Height Gauge

Digital Vernier Height Gauge मे रीडिंग को मापने के लिए एक डिजिटल मीटर लगा हुआ होता है, जिसमे हमे सीधी रीडिंग प्राप्त हो जाती है। मेनुअल रीडिंग पढ़ने की जरूरत नहीं पड़ती।


Zero Setting For Vernier Height Gauge (शून्य सेटिंग)

इस प्रकार के गेज में ऑफसेट स्क्राइबर यन्त्र के शून्य को डाटम सतह ( Datum Surface ) से सेट करने में योग्य होते हैं । इसमें स्ट्रेट स्क्राइबर का प्रयोग करते समय डाटम सतह से ऊपर यन्त्र के शून्य को सेट किया जाता है ।

इस स्थिति में शून्य सेटिंग की परिशुद्धता का परीक्षण गोल ब्लॉक ( round block ) द्वारा किया जाता है । वर्तमान में विशेष प्रकार के वर्नियर हाइट गेज ज्ञात है जिनसे डाटम सतह से ही माप ले सकते हैं । वर्नियर हाइट गेज की ऊँचाई बीम की ऊँचाई द्वारा वर्णित की जाती है ।


Care and Maintenance (देखरेख एवं अनुरक्षण)

  1. इसे हमेशा कर्तन औजारों से अलग रखना चाहिए।
  2. इसका प्रयोग रफ सतह पर नहीं करना चाहिए।
  3. सदैव उपयोग से पूर्व एवं पश्चात् साफ देना चाहिए ताकि मापन परिशुद्धता बनी रहें ।

Precautions of Vernier Height Gauge (सावधानियाँ)

  1. वर्नियर हाइट गेज से मार्किंग करते समय बेस को पकड़कर हाथ से इस प्रकार चलाना चाहिए कि मेन स्केल झुके नहीं।
  2. स्क्राइबर की धार तेज होनी चाहिए जिससे लाइन खींचने के लिए अधिक बल की आवश्यकता न पड़े।
  3. माप लेते समय वर्नियर स्केल की शून्य त्रुटि को हिसाब में लगा लेना चाहिए।
  4. वर्नियर हाइट गेज को अन्य औजारों के साथ मिलाकर नहीं रखना चाहिए।
  5. प्रयोग करने के पश्चात् साफ करके व हल्का मोबिल ऑयल लगाकर रखना चाहिए ।


Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *