What is 5 Core Tools of Quality In Hindi

5 core tool in hindi

What is 5 Core Tools of Quality In Hindi

5 Core Tools of Quality को 1993 मे AIAG (Automotive Industry Action Group) मे Develop किया था AIAG की स्थापना लगभग 30 साल पहले North American के तीन सबसे बड़े Automotive Manufacturer – Chrysler, Ford, and General Motors ने की थी।

AIAG ने Domestic Automotive Manufacturers के साथ मिलकर Common Quality के तरीके और उपकरण विकसित किए, जिन्हें 5 Core Tools of Quality के रूप में जाना जाने लगा। यह उपकरण इतने उपयोगी साबित हुए कि उन्हें Aerospace, Defense,, Medical, and Pharmaceutical सहित अन्य Manufacturing क्षेत्रों द्वारा अपनाया गया।

आज के समय मे Automotive Industry Action Group द्वारा विकसित किए गाये एक या अधिक Core Tool की आवश्यकता Automotive Manufacturer और Suppliers को होती है। इसलिए Group के जिन कर्मचारियों ने Core Tool प्रक्रियाओं में महारत हासिल की है, वे अपने ग्राहकों को Assure करते हैं कि Industry के सबसे योग्य व्यक्ति उनकी ओर से काम कर रहे हैं, और यह कि IATE 16949 और उचित Quality Reference Manual की आवश्यकताओं को बिना किसी असफलता के पूरा किया जाएगा।

5 Core Tool of Quality Management

  1. Advanced Product Quality Planning (APQP)
  2. Failure Mode and Effect Analysis (FMEA)
  3. Measurement Measurement System Analysis (MSA)
  4. Statistical Process Control (SPC)
  5. Product Product Part Approval Process (PPAP)

अभी हमने सभी 5 Core Tools of Quality के नाम जान लिये है, आइए अब हम इनके बारे मे ओर अधिक जानते है, की इनका क्या काम है? ओर ये कहाँ पर उपयोगी है ?

Advanced Product Quality Planning (APQP)

5 Core Tools of Quality मे सबसे पहले हम Advanced Product Quality Planning के बारे मे जानेंगे APQP एक Framework होता है, जिसमे नए प्रोडक्ट के Development के लिये Process or Techniques दि हुई होती है , जिससे हमे यह मदद मिलती है की किस भी नए प्रोडक्ट के Development में किस प्रकार से काम कर सकते है।

यह एक Systematic तरीका होता है किसी भी प्रोडक्ट को बनाने के लिए यह सुनिश्चित करता है की हमने कस्टमर के सारे Requirement को अच्छी तरीके से समझ लिया है, और उसके अनुसार हम प्रोडक्ट को बनाएंगे।

Advanced Product Quality Planning हमे एक Structure प्रदान करता है, कि जब हम कोई नया प्रोडक्ट बनाए तब उसके लिए कैसे प्लानिंग करे, कैसे उसकी Problems को Define करे, कैसे Activity को कंप्लीट करे ताकि Customer की आशा के अनुसार ही प्रोडक्ट को बना सके।


Failure Mode and Effect Analysis (FMEA)

FMEA 5 Core Tools of Quality मे से एक टूल है, जिसकी मदद से हम Problems ओर Failures को Identify or Eliminate करते है, ताकि हमरी प्रोसेस में Undesirable Event ना हो ओर प्रोसेस ठीक से चलती रहे।

FMEA एक Proactive Function है जिसमें हम पहले ही Analyses कर लेते है, कि हमारी प्रोसेस में क्या – क्या प्रोब्लेम्स या Failures आ सकते है, उनका हमारी प्रोसेस पर क्या Effect पड़ेगा ओर उन Defect के क्या क्या संभव कारण हो सकते है।


Measurement Measurement System Analysis (MSA)

Measurement System Analysis को ही हम MSA कहते है, जब हम किसी Application में Measurement System Analysis को अप्लाई करते है, तो यह इस बात को निर्धारित करता है, कि Result हमे कितने Accurate मिलेंगे।

“MSA Assesses the Adequacy of a Measurement System for a given Application”

MSA में People, Equipment, Material, Method, और Environment का Combination होता है, मतलब की MSA में इन सभी का स्टैंडर्ड होना बहुत जरूरी है, तभी एक Standard Management System Analysis Establish हो पाएगा। यह भी 5 Core Tools of Quality मे से एक टूल है।


Statistical Process Control (SPC) – 5 Core Tools of Quality

Statistical Process Control (SPC) प्रोसेस को Monitor ओर Control करने का Scientific Visual Method है, इसके द्वारा हम Quality को Improve करते है। इसे हम Manufacturing, Services, ओर Financial Process में भी उपयोग कर सकते है। 5 Core Tools of Quality का एक उपयोगी टूल है।

इसे सन 1920 में Dr. Walter A. Shewhart ने Bell Lab में बनया था, अभी हम इसके 2nd Edition का उपयोग करते है, जो की July 2005 में आया था।


Product Product Part Approval Process (PPAP)

जब कोई भी Customer किसी Supplyer को कुछ नया Part बनाने के लिए कहते है, तो Customer Supplyer से Request करते की आप Perform करके दिखाइए की आप इसे कैसे बनाएंगे, ओर कुछ Documents (PPAP) भी Submit करने के लिए कहता है। इसके बाद Customer उन सारे Documents को देखता है, वह ठीक है या नहीं, ठीक होते है तो Customer Product को बनाने के लिए Approval दे देता है। जब Supplyer को Customer से Approval मिल जाता है तो वह Part का Mass Production Start स्टार्ट कर देता है।

इसे Automotive Industry Action Group (AIAG) ने Develop किया था। अभी हम इसका Standard (4th Edition) का उपयोग कर रहे है, जो कि 2006 में बना था।


5 Core Tools of Quality क्यों जरूरी है ?

  • सुधार के नए तरीके खोजने के लिए।
  • Documents की चेकिंग और प्लानिंग करने के लिए।
  • Quality में सुधार करने के लिए।
  • Problems ना हो इसलिए पहले से सुधार करने के लिए।
  • Continual Improvement के लिए।
  • Cycle टाइम को कम करने के लिए।
  • Supplier or Customer के साथ Better Communication के लिए।
  • Do it right first time बिना गलती के पहली बार में ही सही करे इस लिए।
  • Future मैं होने वाले डिफेक्ट को कम करने के लिए।
  • यह बताने के लिए की Supplier Customer की सारी Requirements को पूरी करेगा।
  • Supplier प्रोडक्शन के लिए त्यार है, और एक Quality प्रोडक्ट ही Customer को Deliver करेगा।
  • यह एक Evidence भी त्यार करता है, कि कस्टमर की जो भी Engineering Design है, उसकी Requirements or Specification को Supplier ने अच्छे से समझ लिया है ओर वह उन्हें पूरा कर सकता है।

Benefits of 5 Core Tools of Quality

  • 5 Core Tools से Customers और Suppliers के बीच कम्युनिकेशन अच्छा होता है।
  • जो चीजें जरूरी नहीं होती है, उन्हें हम पहले ही हटा देते हैं।
  • प्रोडक्ट की क्वालिटी मे सुधार आता है और प्रोडक्ट की लाइफ भी बढ़ती है।
  • इससे इससे कस्टमर को ज्यादा Satisfaction मिलता है।
  • Preventive Action लेने लेने मे आसानी हो जाती है।
  • 5 Core Tools के द्वारा Process और Product के बारे में ज्यादा जानकारी मिलती है, जिसका उपयोग हम बहुत सी जगह पर कर सकते है।
  • इससेProcess की Quality, Reliability, और Safety बढ़ाती है।
  • इससे Process के कॉस्ट और Development Time में कमी होती है।
  • इसमें हम Risk Reduction Activities को ट्रैक कर सकते है।
  • यह Critical to Quality Characteristics को Identify करने में मदद करता है।
  • यह Historical Record बनाने में मदद करता है।
  • कस्टमर की संतुष्टि और सेफ्टी को बढ़ाता है।
  • पूरे चेन में एक Common Approach चलती है।

Share