Dial Test Indicator In hindi, PDF, Least Count

dial-test-indicator-in-hindi

Dial Test Indicator In Hindi – डायल टेस्ट इण्डीकेटर क्या है ?

Dial Test Indicator वास्तव में एक Comparative Study Instrument ( तुलनात्मक अध्ययन करने वाला यन्त्र ) है, इसलिए इसे एक Measuring Instrument न कहकर तुलना करने वाला यन्त्र ( Comparing Instrument ) कह सकते हैं। इसे अपने उपयोग के अनुसार काफी अलग अलग जगह पर इसका उपयोग किया जाता है, आज हम इसके बारे मे जानेंगे :-


Dial Test Indicator Least Count

Dial Test Indicator का Least Count 0.01 mm होता है।


Uses Of Dial Test Indicator – डायल टेस्ट इण्डीकेटर के उपयोग

Dial Test Indicator के बहुत से उपयोग है इसके कुछ उपयोग नीचे दिए गाये है यह निम्न कार्यों में प्रयोग किया जाता है :-

  • इसका उपयोग किसी भी जॉब की Surface की Flatness को Check करने के लिये किया जाता है।
  • Cylindrical (बेलनाकार) जॉब की ovality को चैक करने के लिये।
  • जॉब की Straightness को Check करने के लिये।
  • हैडस्टॉक तथा टेलस्टॉक का Alignment सही है या नहीं उसे चैक करने के लिये।
  • किसी जॉब की Parallelism को Check करने के लिये किया जाता है की वह एक दूसरे से कितने सिधाई मे है या समानान्तर है।
  • किसी भी जॉब का टेपर (taper) चैक करने के लिये।किसी शाफ्ट की concentricity को Check करने के लिये।
  • साइन बार से Tapper Angle निकालने के लिए।
  • CNC ओर VMC मशीनों में Fixture को सही स्थान पर सेट करने के लिए।

Dial Test Indicator के मुख्य भाग

सबसे पहले हम Dial Test Indicator के सभी भागों के बारे मे जान लेते है जिससे हमे यह संजने मे आसानी होगी की यह कैसे काम करता है ।

  • केस या हाऊसिंग
  • बेजल
  • नीडिल
  • रैक या प्लन्जर
  • बॉल कान्टैक्ट प्वॉइण्ट
  • कवर या बैक
  • डायल
  • रेवोल्यूशन काऊण्टर
  • स्टैम
Dial Test Indicator के मुख्य भाग

Principle – डायल टेस्ट इण्डीकेटर कैसे काम करता है

इसमें Rank and Pinion द्वारा साइज के अन्तर को Mechanical Method से बड़ा करके डायल पर दिखाया जाता है।


Types of Dial Test Indicator – प्रकार

क्कम के अनुसार Dial Test Indicator निम्न प्रकार के होते हैं :-

Plunger Type Dial Test Indicator – प्लंजर टाइप

Plunger Type डायल टेस्ट इण्डीकेटर में Plunger की थोड़ी – सी चाल को गियर ट्रेन के द्वारा रोटरी मोशन ( Rotary motion ) में बदलकर मैग्नीफाई ( Magnify ) करके डायल पर दिखाया जाता है।

Plunger Type Indicator की बनावट

जैसा कि चित्र में दर्शाया गया है । यह एक गोल घड़ी की आकृति का Device है , जिसमें एक Plunger होता है, जिसके बीच के हिस्से में 1mm पिच की रैक बनी होती है। रैक से एक छोटी गरारी ‘ B ‘ जुड़ी रहती है , इसमें 10 दाँते होते हैं। ‘ B ‘ गरारी की शाफ्ट पर 100 दाँतों का एक गियर ‘ C ‘ लगा रहता है। इस गियर ‘ C ‘ से एक अन्य 10 दाँतों की पिनियन ‘ D ‘ जुड़ी होती है। पिनियन ‘ D ‘ की शाफ्ट पर एक इण्डीकेटर लगा होता है, जो 0 से 100 डिवीजनों वाले डायल पर घूमता है।

Principle

“जब प्लंजर 1 मिमी घूमता है तो रैक एक दाँता ऊपर या नीचे होता है। इससे जुड़ी 10 दाँतों वाली पिनियन ‘ B ‘ भी एक दाँता चलती है अर्थात् 1/10 चक्कर चलती है। ‘ B ‘ से जुड़ी गियर ‘ C ‘ भी 1 चक्कर चलता है , क्योंकि ‘ C ‘ में 100 दाँते हैं, अत : यह 10 दाँते चलता है। ‘ C ‘ से 10 जुड़ी पिनियन ‘ D ‘ भी 10 दाँते चलेगी , क्योंकि ‘ D ‘ में कुल 10 दाँते हैं, अर्थात् ‘ D ‘ पिनियन पूरा एक चक्कर लगाएगी।

अब ‘ D ‘ की शाफ्ट पर ही इण्डीकेटर लगा है, अर्थात् इण्डीकेटर डायल पर 0 से 100 डिवीजन चलेगा। इस प्रकार Plunger द्वारा 1mm दूरी चलने पर इण्डीकेटर डायल पर 100 डिवीजन चलता है, अर्थात् इण्डीकेटर के एक डिवीजन चलने पर Plunger 0.01mm चलेगा । अत : इसकी least count 0.01mm होती है।


British Type – ब्रिटिश इण्डीकेटर

इसकी कार्य प्रणाली भी मीट्रिक डायल टेस्ट इण्डीकेटर के समान होती है। इसकी रैक पर 1 ” की पिच के दाँते होते हैं तथा पिनियन ‘ B ‘ में भी 40 40 दाँते होते हैं। अन्य गियरों के दाँते मीट्रिक के समान 100 तथा 10 ही होते हैं। इसकी अल्पतम माप या 0.001 इंच होती है। 1000 लीवर टाइप

Lever Type – लीवर टाइप

लीवर टाइप डायल टेस्ट इण्डीकेटर में स्टाइल्स को दी गई चाल एक लीवर के द्वारा स्क्रॉल ( scroll ) को बढ़ाकर ( magnified ) दी जाती है। यह स्क्रॉल इसे डायल पर एक इण्डीकेटर के द्वारा प्रदर्शित करता है।


Digital Dial Test Indicator – डिजिटल टेस्ट इण्डीकेटर

डायल टेस्ट इण्डोकेटर के क्लॉक फेस ( डायल ) को LCDs तथा Clock work को Linear Encoder में बदलकर डिजिटल टेस्ट इण्डीकेटर बनाया जाता है । डिजिटल टेस्ट इण्डीकेटर बहुत अधिक प्रभावी एवं लाभदायक है, इसमें इलेक्ट्रॉनिक रूप में Data को रिकॉर्ड तथा प्रेषित ( transmit ) कर सकते हैं, एवं बटन के द्वारा ये मीट्रिक यूनिट को इंच यूनिट में बड़ी ही आसानी से बदल देता है।


Comparator – कम्पेरेटर

कम्पेरेटर एक आधुनिक Device है, जो Mechanical Multiplication तथा Optical System का मिल हुआ रूप होती है। इसमें शीशे या प्रिज्म से परावर्तित प्रकाश के Angular Deflection का प्रयोग किया जाता है। यह एक आप्टिकल आधारित Device होता है।

इसे निम्नलिखित कार्यों के लिए प्रयोग किया जाता है

  1. मास प्रोडक्शन में, जहाँ पर Parts को बहुत ही जल्दी से चैक करना होता है।
  2. Gauge के Inspection करने के लिये इसका उपयोग किया जाता है।
  3. कम्पेरेटर को कुछ मशीनों के साथ लगाया जाता है, जिसमें उन्हें Working Gauge के समान रूप से प्रयोग किया जाता है। इस प्रकार पार्ट्स को खराब होने से बचाया जा सकता है ।

Precautions of Dial Test Indicator – डायल टेस्ट इंडिकेटर की सावधानियां

  • डायल टेस्ट इंडिकेटर को अन्य कटिंग टूल्स के साथ मिलाकर नहीं रखना चाहिए ।
  • इसे कभी भी झटके के साथ प्रयोग नहीं करना चाहिए।
  • इसे Ruff Surface पर उपयोग नहीं करना चाहिए ।
  • काम हो जाने के बाद इसे अच्छी तरह से साफ करके इसके बॉक्स में रख देना चाहिए।

Dial Test Indicator Price

Dial Test Indicator का Price लगभग 3000 से 7000 तक होता है यह अलग अलग Brand के अनुसार होता है, ज्यादातर Mitutoyo Brand के Dial Test Indicator का उपयोग Industries मे किया जाता है, इसके अलावा भी कई अन्य Brand जैसे की Insize, Precise, Baker आदि होते है, जिनका उपयोग किया जाता है।


इन्हे भी पढे :-


Share