5S Kya hai in hindi | What Is 5S

5S Kya hai in hindi

What Is 5S In Hindi | 5S क्या है हिंदी मैं

5S एक जापानी टूल है जिसका उपयोग वर्कप्लेस मैनेजमेंट के लिए किया जाता है, इसमें 5 शब्दों की एक सूची होती है जिन्हे 5S कहा गया है।

  1. Sorting
  2. Set in order
  3. Shine
  4. Standardize
  5. Sustain

Sorting | छटाई

इसमें हमें कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए :-

  • Not Needed at All :- ऐसे सामान जो कि हमें बिल्कुल नहीं चाहिए जिनका हमें कोई उपयोग नहीं है, उन्हें हटा देना चाहिए।
  • Needed But Not Now :- ऐसे सामान जो हमें चाहिए तो पर उनकी जरूरत अभी नहीं है तो उन्हें अलग कर दें।
  • Needed But Not Here :- हमें यह सामान चाहिए तो पर यहां पर नहीं, तो उन उन सामान की जहां पर जरूरत है, उन्हें वहीं पर ही रखें।
  • Needed But Not So Much Quantity :- ऐसे सामान जिनकी जरूरत तो है लेकिन कम मात्रा में तो, इस बात का ध्यान रखें कि जो सामान की जितनी जरूरत है, उसे उतनी ही क्वांटिटी में रखें।
  • Defective Parts को अलग कर देना चाहिए।
  • Scrap Material हटा देना चाहिए।

Sorting में Red Tagging का भी उपयोग किया जाता है, Red Tagging एक Visual Sorting Mechanism है। 5S जहां पर एम्प्लीमेंट किया जाता है, वहां पर एक Red Tagging Zone बनाया जाता है। Red Tag को उन सामान पर लगाया जाता है, जिनका हमें उपयोग नहीं होता है।


Set In Order | सुव्यवस्थित करना

Place for everything and everything in its place

हर चीज की जगह निर्धारित की जाए और उन चीजों को निर्धारित जगह पर ही रखा जाए।

आइए इसे हम कुछ Examples से समझते हैं :-

मान लीजिए की वर्कर्स को टूल को ढूंढने में प्रॉब्लम हो रही है, इसके लिए हम एक Shadow Board त्यार करेंगे जिस पर हम सभी Tool को लगा देंगे, इससे हमारे Space की बचत होगी साथ ही Tool को सर्च करने में आसानी होगी।

इसके साथ ही हम एक Tokan Board भी लगाएंगे जिस पर सभी वर्कर्स के नाम का एक टोकन लगा होगा। अब यदि किसी वर्कर को किसी Tool की जरूरत है तो वह वहां से उनको उठाएगा और अपने नाम का टोकन लगा देगा ताकि उसी Tool की जरूरत किसी दूसरे वर्कर को हो तो, वह टोकन को देख ले और उसे पता चल जाए कि वह टूल किस दूसरे वर्कर के पास है।

How To Implement 5S | 5S को कैसे लागू करे :-

  • पहले आप अच्छी तरीके से Analyze करें की इसे कहाँ पर और कैसे Implement करना है।
  • किन चीजों को रखना है, और किन चीजों को हटाना है अलग-अलग करें ।
  • यह निर्धारित करें कि जिन चीजों को हटाना है उन्हें कैसे हटाए।
  • चीजों की Indexing करें, labeling करे, Identification करें, और उनकी Marking करें।
  • जो भी बदलाव करें उनके बारे में सबको बताएं।

Advantage of 5S | 5S के फायदे

  • चीजों को ढूंढना आसान हो जाता है।
  • समय की बचत होती है।
  • स्पेस की बचत होती है।
  • काम में तेजी आती है।
  • काम करने की एक प्रक्रिया बन जाती है।
  • नाम का टोकन बोर्ड पर लगा होता है तो उसकी जिम्मेदारी बन जाती है उस सामान को वापस वहां रखने कि।
  • Labeling/Marking करके हम पता कर सकते है की कब किस स्टेज पर सामान Refill करने की जरूरत है।

इन्हे भी पढ़े –

Quality control kya hai In Hindi | क्वालिटी कंट्रोल क्या है हिंदी में

Quality Assurance Kya hai | (क्वालिटी एश्योरेंस क्या है)


Shine | स्वच्छता – 5S

हमें अपने Organization या Working Area को साफ एवं स्वच्छ रखना चाहिए। इसके लिए हमे प्रतिदिन या सप्ताह में एक बार कुछ समय निर्धारित कर देना चाहिए जिससे सभी लोग अपने-अपने Working Area में स्वच्छता बनाए रखें।

कुछ नियम

  • अगर हमारे सामान कम रहेंगे तो साफ सफाई करने में आसानी होगी।
  • जब सफाई करें तो हमें पता होना चाहिए कि किस प्रकार सफाई की जानी चाहिए हमारे सफाई करने से उसमें कोई प्रॉब्लम तो नहीं आएगी।
  • क्लीनिंग के साथ हमें इंस्पेक्शन भी करे यदि हम किसी Instrument की सफाई कर रहे हैं, तो उसे सभी साइड से अच्छी तरह साफ करें और उसका Inspection भी करे कि सभी चीजे ठीक तरह से जुड़ी हुई है, कहीं कोई Part या वायर ढीली तो नहीं है, या टूटी हुई ना हो।

Standardization | मानकीकरण

चीजों का स्टैंडर्ड के हिसाब बाटना या किसी Process के होने का एक पैटर्न तैयार करना।

जैसे किसी industrial Map में अलग अलग चीजों को Different Sign Board लगाकर बताया जाता है जैसे की Danger Board, Do Not Enter Board, Process Direction etc.

हमें इन बातों का ध्यान रखना चाहिए :-

  • सभी की Responsibility fix करें कि कौन किस काम को करेगा।
  • अलग-अलग Zone बनाकर Responsibility दे।
  • इसको एक Routine बना दे।
  • सारे सिस्टम को चेक करते रहें कि यह ठीक से काम कर रहा या नहीं।

Sustain | अनुशासन – 5S

हमने सभी “S” को Implement कर दिया है, तो हमें अब Sustain मतलब कि अनुशासन की भी जरूरत होगी।

  • Daily Monitoring करे 5S मैं किस प्रकार का Progress हो रहा है, लोग काम कर रहे हैं या नहीं इसे हम Monitor करे।
  • Area Divide कर दे और Area Zonal Leader बना दे।
  • Red Tag Campion चलाएं जिसमें Unwanted चीजों को Identify करें और उन्हें हटा सकें।
  • Fix Point Photographs का उपयोग करके Before or After का फोटो दिखा सकते हैं। जिससे क्या Improvement किया गया है वह पता चलेगा।
  • सभी लोगों को 5S के बारे में बताएं कि, यह हम क्यों कर रहे हैं इससे क्या फायदे होंगे।
  • 5S के लिए सभी को ट्रेनिंग देनी चाहिए।
  • Monthly ऑडिट करवाना चाहिए।
  • Motivation के लिए हमें Reward देना चाहिए।

Benefits Of 5S (फायदे)

  • Quality Improve होती है।
  • Rejection में कमी आती है।
  • Complaint में कमी आती है।
  • Inventory level में कम होती है।
  • Cost में कमी आती है।
  • Product Delivery Time में Improvement होता है।
  • लोगों की safety बढ़ती है।
  • Accident कम होते हैं।
  • लोग Motivate होकर काम करते हैं।


Share

1 thought on “5S Kya hai in hindi | What Is 5S”

  1. Pingback: Scatter Diagram kya hai in hindi | स्कैटर डायग्राम क्या है - Engineerhindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *