Quality Control (क्वालिटी कंट्रोल) kya hai in Hindi, PDF

quality-control-kya-hai-in-hindi

Quality control kya hai In Hindi | क्वालिटी कंट्रोल क्या है हिंदी में

Quality Control वह प्रक्रिया है, जिसमें हम यह सुनिश्चित करते हैं कि जो प्रोडक्ट हम बना रहे हैं वह सभी Quality Standard को पूरा करता हो एवं ग्राहक की सभी आवश्यकता की पूर्ति करता हो। आइये ओर अधिक जानते है Quality Control के बारे मे Hindi मे

Quality Control Meaning in Hindi

क्वालिटी कंट्रोल में हम प्रोडक्ट की क्वालिटी को प्रोडक्शन के द्वारा चेक करते हैं, और कंट्रोल करते हैं। हम प्रोडक्ट को बेहतर बनाने पर काम करते हैं, एवं उसमें जो कमियां हैं उसे या तो खत्म या दूर करने का प्रयास करते हैं, ताकि ग्राहक को अच्छा उत्पाद प्राप्त हो सके। Quality Control क्वालिटी मैनेजमेंट सिस्टम (QMS) का एक भाग है।


QC full form

QC full form in Hindi – QC का full form Quality Control है।


Quality Control क्यों करते है ?

  • कंपनी की Income और Reputation को बढ़ाना प्रोडक्ट को कस्टमर के लिए ज्यादा उपयोगी बना कर जैसे :- प्रोडक्ट लंबे समय तक चले, प्रोडक्ट में कोई डिफेक्ट ना हो, प्रोडक्ट कस्टमर के लिए उपयोगी साबित हो,प्रोडक्ट से ग्राहक पूरी तरह संतुष्ट हो।
  • डिफेक्ट प्रोडक्ट के कारण जो हानि हो रही है उसे कम करके कंपनी की लागत को कम करने के लिए।
  • ग्राहकों का प्रोडक्ट के ऊपर विश्वास बनाए रखने के लिए।
  • कम लागत में एक बहुत ही अच्छा गुणवत्ता वाला प्रोडक्ट बनाने के लिए।
  • बड़े पैमाने पर प्रोडक्शन में प्रोडक्ट की क्वालिटी में कोई कमी ना आए।
  • निर्माण के दौरान प्रोडक्ट में कोई भी व्यर्थ बदलाव ना हो जैसे :- मटेरियल से संबंधित, प्रक्रिया से संबंधित, पैकिंग से संबंधित, गुणवत्ता से संबंधित आदि।

Benefits of Quality Control in Hindi – फायदे

  • यह प्रोडक्ट और सर्विसेज की क्वालिटी में सुधार लाता है।
  • क्वालिटी कंट्रोल प्रोडक्टिविटी को बढ़ाता है, जिससे हमें व्यापार में ज्यादा फायदा होता है।
  • मैन्युफैक्चरिंग प्रोसेस में सुधार लाता है।
  • यह मैन्युफैक्चरिंग कास्ट को कम करता है।
  • प्रोडक्ट को बनाने की लागत को कम कर देता है जिससे कस्टमर को कम दामों में अच्छी गुणवत्ता वाला प्रोडक्ट मिल जाता है।
  • समय पर कस्टमर को प्रोडक्ट उपलब्ध हो जाता है।
  • इससे हमारे समय की भी बचत होती हैं।
  • क्वालिटी कंट्रोल बिजनेस को और बेहतर बनाने में सहायता करता है।

Steps to Implement Quality Control

क्वालिटी कंट्रोल को लागु करने के निम्नलिखित स्टेप्स है

  • Quality Control के लिए नीति (Policy) तैयार करना
  • ग्राहकों की पसंद, लागत और लाभ के आधार पर स्टैंडर्ड सेट करना।
  • प्रोडक्ट को जांचने के लिए एक प्रक्रिया का निर्धारण करना।
  • स्टैंडर्ड के अनुसार सुधार के कार्य और जरूरी बदलाव करना।
  • डिफेक्ट प्रोडक्ट का क्या करना है इसके लिए एक प्रोसेस बनाएं, उन्हें फिर से काम में लिया जा सकता है या नहीं।
  • क्वालिटी कंट्रोल से संबंधित समस्याओं पर चर्चा एवं उन्हें कैसे ठीक किया जाए इसके लिए प्रक्रिया का निर्माण करना।
  • कंपनी के अंदर एवं बाहर क्वालिटी की जागरूकता को बनाना।
  • अच्छे विक्रेता संबंध (Vendor Relation) के लिए प्रक्रियाओं को बनाना।

Quality Control Tools – क्वालिटी कंट्रोल के टूल

परेटो चार्ट (Pareto chart) :- हम सभी Problems को एक साथ Solve नहीं कर सकते हैं, हमें उन्हें जरूरत के अनुसार अलग अलग भागों मे बांटना पड़ता है, जिस प्रॉब्लेम को Solve करना ज्यादा जरूरी है उसे पहले बाकी सभी Problems को बाद मे सॉल्वे करते है।

इसे Vilfredo Pareto ने बनाया था, इसलिए इसे  Pareto चार्ट कहा जाता है, यह एक सिंपल डायग्राम होता है, “Bar” ग्राफ और “Line” ग्राफ की मदद से बनाया जाता है, इसमे चार्ट के दोनों तरफ एक X – Axis ओर दो Y- Axis होते है, जिसमें हम प्रॉब्लम, डिफेक्ट्स, या अन्य पैरामीटर को घटते हुए क्रम में लिखते हैं।

चेक शीट (Check Sheet) :- Check Sheet एक प्रकार की Manual Sheet होती है, इसका  का उपयोग हम Data को Collect करने के लिए करते है, इसमें हम Real Time – Real Location पर जहां पर Data जनरेट हो रहा है, वहां पर जाकर Data को Collect करते हैं। इस से जो Data हमे मिलता है, उसका उपयोग हम Histogram ग्राफ बनाने में भी कर सकते हैं।

कॉज एंड इफेक्ट डायग्राम(Cause and Effect Diagram) :- इसमे हम किसी भी Problem के उत्पन्न होने के जो Possible Reason हो सकते हैं, उसका पता लगते है और फिर इसकी Help से मुख्य कारण का पता करते है।

इसमें हम Cause और Effect के बीच संबंध को देखते हैं। इसे Ishikawa Diagram और Fishbone Diagram डायग्राम भी कहते हैं।

स्कैटर डायग्राम (Scatter Diagram) :-यह एक Graphical Tool है, यह Independent ओर Dependent Variables के बीच के संबंध को दिखता है, इसमे किसी प्रॉब्लेम के Data Record किया जाता है, फिर Scatter Chart बनाया जाता है, इस के द्वारा हमे यह पता चलता है, कि उन दोनों Variables में क्या ओर किस तरह का संबंध है। इसे भी Dr. Kaoru Ishikawa ने बनाया था

हिस्टोग्राम (Histogram) :- यह Tool किसी Time Interval मे लिये गाये Numerical Data का Bar ग्राफ द्वारा Frequency Distribution को दिखाता है, साथ ही प्रोसेस से लिए गए डेटा को Summarize करने में मदद करता है, और यदि Process में कोई बदलाव हो रहा है, तो उसको समझें में हमारी मदद करता है।

हिस्टोग्राम का उपयोग करने के लिए हमारे पास Numerical Data होना चाहिए। डाटा जितना ज्यादा होगा Analysis का रिजल्ट उतना ही बेहतर होगा।

ग्राफ और फ्लो चार्ट (Flowchart) : – इसके द्वारा हमें किसी भी प्रक्रिया के Sequence को समझने में आसानी होती है, यह किसी भी प्रोसेस को step by step graphical diagram के रूप में दिखाता है, इसमें कई तरह के Symbol होते हैं, जो कि अलग-अलग Process को दिखाते हैं, जो की एक Arrow से कनेक्ट होते हैं।

कंट्रोल चार्ट (Control Chart) :- Control Chart प्रोसेस में हो रहे Variation को दिखाते हैं, कि उसमें कितना उतार-चढ़ाव हो रहा है, और इसके पीछे क्या क्या कारण है, इसमे LCL ओर UCL कंट्रोल की लिमिट्स होती हैं और No Action Zone, Warning Zone, Action Zone होते है।


इसे भी पढ़े :- Quality Assurance (क्वालिटी एश्योरेंस) kya hai In Hindi

7QC Tool क्या है ?

Kaizen क्या है ?

Poka Yoke क्या है ?


इस पोस्ट मे हमे पढ़ा Quality Control in Hindi के बारे, QC full form in Hindi के बारे मे, Quality Control Meaning in Hindi के बारे मे इसके अलावा Benefits of Quality Control in Hindi अर्थात इसके क्या फायदे है, और Steps to Implement Quality Control मतलब की इसे कैसे लागू किया जाए के बारे मे भी जाना ।

Quality Control in Hindi Topics के बारे मे हमारे द्वारा ओर भी विस्तरत पोस्ट लिखी गई है, साथ ही क्वालिटी कंट्रोल के टूल के बारे मे अलग अलग Tool पर पोस्ट लिखी गई है इसे आप ऊपर दिए गाये Topic के लिंक से पर Click करके पढ़ सकते है। आपको Quality Control का Hindi PDF फाइल चाहिए हो तो हमे कमेन्ट करे हमारे द्वारा इसका PDF फाइल आपको E-Mail किया जाएगा ।


Share