How to Read Dial Test Indicator In Hindi

how-to-read-use-dial-test-indicator-in-hindi

How to Read Dial Test Indicator – Dial Test Indicator को कैसे पढे

Dial Test Indicator क्या होता है, इसके बारे में हम पहले जान चुके हैं, जिसके लिए आप हमारी यह पोस्ट को पड़े हैं। आज हम जानेंगे कि How to Read Dial Test Indicator इसका हम इसमें रीडिंग कैसे पढ़ेंगे ओर इसका कैसे उपयोग कर सकते हैं, और हमें क्या क्या सावधानियां रखनी चाहिए।

डायल टेस्ट इंडिकेटर को सबसे पहले अपने स्टैंड पर अच्छी तरह से फिक्स कर लेना चाहिए ताकि वह अपनी जगह पर हिले नहीं। Dial Test Indicator को अलग-अलग तरह से उपयोग किया जा सकता है, इसे स्टैंड पर भी लगाया जा सकता है और किसी अन्य मशीन के साथ भी उपयोग किया जा सकता है।

इसका स्टैंड साधारण Base वाला या फिर Magnetic Base वाला भी हो सकता है, साथ ही इसे हम Vernier Height Gauge के साथ भी उपयोग कर सकते हैं। Plunger के नीचे और जॉब के ऊपर की दूरी को हमें ठीक तरह से सेट कर लेना चाहिए।
जॉब को Plunger के नीचे सेट करते समय में यह ध्यान रखना चाहिए कि Pointer (सूई) के द्वारा डायल पर एक या दो चक्कर लगाए जा सके।

चेकिंग करते समय यदि Pointer ( सुई ) डायल के जीरो के पीछे रह जाएं तो हमारा जॉब ( – ) में होता है, वहीं पर यदि Pointer डायल के जीरो से आगे बढ़ जाए तो यह हमें जॉब के प्लस साइज ( + ) को दिखाता है।


Steps How to Read Dial Test Indicator

हमने कुछ बाते तो जान ली है, अब Step by Step जानते है की How to Read Dial Test Indicator :-

  • चैक करने वाले वर्कपीस को Surface Table या Surface Plate पर रख लेना चाहिए।
  • उपयुक्त स्टैण्ड पर Dial Test Indicator को लगाएं ओर उसे ना तो ज्यादा टाइट करे ओर ना ही ढीला छोड़े।
  • Plunger के Tip को वर्कपीस की Surface के साथ Contact में लाएं और देखें कि Pointer दो या तीन बार घूम रहा है या नहीं यदि नहीं घूम पा रहा है, तो उसकी दूरी को कम या ज्यादा करे।
  • Pointer और Revolution Counter की शुरुआत मे जो रीडिंग है उसे नोट करें और उसे Reference Point की तरह प्रयोग करें।
  • Tip के नीचे वर्कपीस को आगे से पीछे की तरफ Move करें उसे सभी तरफ ले जाए ओर रीडिंग देखे उसे नोट करे या फिर आप वहाँ मार्क भी कर सकते है।
  • Plus (+) या Minus (-) रीडिंग के लिए Dial Test Indicator को पढे ओर देखे क्या रीडिंग है।

How to Use Lever Dial Gauge/Indicator

हमने अभी सीखा की How to Read Dial Test Indicator, अब हम सीखेंगे How to Read Lever Dial Indicator/Gauge :-

Lever Dial Gauge/Indicator का उपयोग Height, Flatness, or Roundness में Variations को Measure के लिए किया जाता है। यह आमतौर पर Digital Height Gauge या Vernier Height gauge के साथ जोड़ कर उपयोग किया जाता है।

इसलिए Lever Dial Indicator व्यापक रूप से Manufacturing Industries, Laboratories, ओर Workshops में उपयोग किया जाता है। Lever Dial Indicator के मुख्य निर्माता Mahr, Mitutoyo, Baker आदि हैं, जो अपने Quality Product के लिए जाने जाते हैं।

  • Lever Dial Gauge को Vernier Height Gauge से अच्छे तरीके से जोड़ लेना चाहिए उसे ना तो ज्यादा टाइट करे ओर ना ही ढीला छोड़े।
  • चैक करने वाले Workpiece को Surface Table या Surface Plate पर रख लेना चाहिए।
  • उपयुक्त हो तो V-Block का उपयोग करना चाहिए।
  • Lever के Stylus ( पॉइन्टर ) को वर्कपीस की Surface के साथ Contact में लाएं और देखें कि Pointer ठीक तरीके से घूम रहा है।
  • उसे एक Minimal Pressure देकर Revolution Counter के साथ Zero पर सेट कर लें।
  • Pointer और Revolution Counter की शुरुआत मे जो रीडिंग है उसे नोट करें और उसे Reference Point की तरह प्रयोग करें।
  • Stylus को वर्कपीस पर अलग अलग जगह पर Move करें जो भी उस Surface मे Variation होगा वह Dial Indicator मे दिखेगा रीडिंग देखे उसे नोट करे।
  • प्राप्त रीडिंग से आपको एक Range मिलेगी की Workpiece मे इतनी संख्या मे Variation है।
  • Plus (+) या Minus (-) रीडिंग के लिए Dial Test Indicator को पढे ओर देखे क्या रीडिंग है।

Uses Of Dial Test Indicator – डायल टेस्ट इण्डीकेटर के उपयोग

Dial Test Indicator के बहुत से उपयोग है इसके कुछ उपयोग नीचे दिए गाये है यह निम्न कार्यों में प्रयोग किया जाता है :-

  • Alignment चैक करने के लिये।
  • Roundness को चैक करने के लिये।
  • जॉब की Parallelism को Check करने के लिये।
  • Taper चैक करने के लिये।
  • Shaft की concentricity Check करने के लिये।
  • जॉब की Surface की Flatness को Check करने के लिये किया जाता है।
  • बेलनाकार जॉब की Ovality को चैक करने के लिये।
  • Straightness को Check करने के लिये।
  • साइन बार से Tapper Angle निकालने के लिए।
  • CNC ओर VMC मशीनों में Fixture को सेट करने के लिए।

इन्हे भी पढे :-


Share